Newspapers in Hindi how-to-reduce-the-pain-of-thinking

दर्द अपनेआप में एक बड़ा मुश्किल सवाल है। क्या होता है दर्द और कैसे होता है दर्द, जिसे दर्द होता है बस वही बता सकता है कि दर्द होता क्या है। डॉक्टर्स कहते हैं कि आप जितना अधिक अपने दर्द के बारे में सोचेंगे दर्द उतना अधिक महसूस होगा तो हम आपको बताएँगे की कैसे अपने नजरिए में थोड़ा-सा सकारात्मक बदलाव लाकर आप दर्द के अहसास को कम कर सकते हैं। चलिए जानते है कुछ विशेष तकनीक के बारे में जिसे आपना कर के आप निश्चित रूप से दर्द को कम कर सकते है  जैसे- ध्यान, मेडिटेशन, लॉफ्टर थेरेपी, सम्मोहन चिकित्सा आदि।

१- कल्पनाशीलता- कल्पनाशीलता के सावधानीपूर्वक उपयोग से व्यक्ति में कई फायदेमंद शारीरिक, मानसिक व भावनात्मक परिवर्तन लाए जा सकते हैं। इसमें व्यक्ति को ऐसे स्थान पर ध्यान केंद्रित करने के लिए कहा जाता है, जहां दर्द न हो यानी दर्द से ध्यान हटाकर कहीं और लगाने की कोशिश की जाती है।
२- सोचने का तरीके में बदलाव- किसी खास स्थिति को लेकर आपके सोचने और रिएक्ट करने का ढंग आपके लिए उस स्थिति को बेहतर या बदतर बनाता है। यदि आप सोचेंगे कि मैं दर्द से परेशान हूं, मेरा दर्द लगातार बढ़ता ही जा रहा है तो तब दर्द भी आपका पीछा नहीं छोड़ता है, इसके विपरीत यदि आप सोचें कि गहरी-गहरी सांसे लेने से मेरा दर्द कम होगा और गहरी सांसें लेने लगें तो धीरे-धीरे दर्द के अहसास और तीव्रता में निश्चित तौर पर कमी आएगी।

३- सम्मोहन चिकित्सा – सम्मोहन चिकित्सा का इस्तेमाल कभी-कभी  दर्द से ध्यान हटाने के लिए भी किया जाता है। व्यक्ति को सम्मोहन की अवस्था में लाकर उसे सकारात्मक सुझाव दिए जाते हैं। दर्द से निपटने के तरीकों को उसकी मनोचेतना में डाला जाता है ताकि सम्मोहन से बाहर आकर भी व्यक्ति दर्द के प्रभाव को कम महसूस करे।
४- ध्यान लगाना व योग द्वारा भी दर्द कम किया जा सकता है।
५- अपने दर्द को किसी ऐसी मशीन पर केंद्रित करने की कोशिश करें जिसे आप नियंत्रित कर सकते हों।
६- ध्यान बंटाने वाले खेल खेलें।
७- किताब पढ़ें।
८- अपने परिवार व मित्रों के साथ समय बिताएं।
जानिए अब कहाँ चला सकते हैं 500 के नोट

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए Subscribe करे!